July 7, 2022

Shakti Almora

-since from 1815

72 वर्ष पूर्व— शक्ति के अभिलेखागार से— भारत के इतिहास का असाधारण दिन

15 अगस्त शक्ति के 5 अगस्त 1947 के मुखपृष्ट पर प्रकाशित सामग्री
गश्तीपत्र
प्रियबंधु
15 अगस्त को अंग्रेजी सरकार अपने सब अधिकार भारत को सौंपने जा रहे है। उस दिन से अपनी भारतीय सरकार अपने देश का संचालन करेगी भारत के इतिहास में यह दिन असाधारण दिन होगा और कांग्रेस के लिए तो वह दिन है जबकि उसका उद्देश्य और आकांक्षाएं पूरी होती दिखाई पड़ रही हैै इस पर गर्व होना स्वाभाविक है इसमें संदेह नहीं कि हमारा प्रजातंत्र अभी कुछ दिन बाद स्थापित होगा। जब हम अपना विधान बना लेगें। लेकिन तब तक के लिए सारा अधिकार और गर्वरमेन्ट सूत्र पूरी तरह अपने हाथ में आ गया है। देश का कुछ हिस्सा एक अलग राष्ट्र के रुप में बन गया है इसका किस राष्ट्रीय व्यक्ति को क्लेस नहीं है। इसे कोई राष्ट्रीय हिन्दू, मुसलमान, सिक्ख, या ईसाई पसंद नहीं करता। लेकिन जो हो चुका है और एक निश्चित रुप में अपने सामने आ गया है। उसे स्वीकार कर हमें आगे बढ़ना है राष्ट्र का जीवन सदा एक ही रुप में नहीं चला करता। उसमें कितनी उथल—पुथल और परिवर्तन होते रहते है हमें इसकी आशा रखनी चाहिए। कि भारत फिर एक होगा और हम सब मिलकर उसका संचालन करेंगे। हमें निराश नहीं होना चाहिए। भारत ने अपनी समस्याओं को एक विशेष रुप में हल किया है। व उन्हें फिर उसी तरह हल करने में सफल होगा। यही प्रत्येक कांग्रेसी को आशा होनी चाहिए।
72 वर्ष पूर्वशक्ति के अभिलेखागार से — शक्ति 12 अगस्त 1947
हिमालय की पहाड़ियों में स्वतंत्रता दिवस की गूंज
पहाडों की चोटियों पर खतडवे जलेंगे— गावं गांव में हर्ष। राष्ट्रीय तीर्थ बागेश्वर में कूर्मांचल केसरी पं. बदरदत्त पाण्डे एमएलसी ध्वजा रोहण करेंगे। अल्मोड़ा नगर में अभूत पूर्व उत्साह कांग्रेसजन, अधिकारी वर्ग तथा प्रतिष्ठित लोग तयारी में व्यस्त।
​इण्डिया आफिस अगले सप्ताह समाप्त हो जायेगे।
लन्दन 6 अगस्त 15 अगस्त को भारतीय तथा पाकिस्तान डोमिनियन की स्थापना के कारण ब्रिटिश मंत्री मण्डल में शीघ्र परिवर्तन की घोषणा की सम्भावना है। अगामी सप्ताह इण्डिया आफिस समाप्त हो जायेगा और इसके साथ ही भारत मंत्रा का कार्यालय भी।
ब्रिटिश सरकार के वर्तमान उप भारतमंत्री आ​र्थर हेण्डरसन को भारत, पाकिस्तान और ब्रिटेन में सम्पर्क करने के लिये मंत्री नियुक्त करेगी।
लार्ड लिस्टोवल अभी तक भारत तथा वर्मा दोनों के मंत्री रहेंगेे, और वह भी उस समय तक जब तक की वर्मा का सत्ता हस्तांतरित नहीं की जाती।
श्री डेण्डरसन लोकसभा में वर्मा के उप भारतमंत्री का कार्य करते रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.