June 18, 2021

शक्ति न्यूज अल्मोड़ा |

1918 से प्रकाशित शक्ति अखबार का डिजीटल प्लेटफार्म

अल्मोड़ा पुलिस का सराहनीय प्रयास – मिशन हौसला के अन्तर्गत पुलिस विभाग द्वारा रक्तदान

बेक्रिग— लॉ कालेज में एडमिशन कराने वाले फर्जी काउन्सलर को अल्मोड़ा पुलिस ने पुणे से किया गिरफ्तार

1 min read

Subscribe Channel

शुक्रवार 12 मार्च 2021
एसएसपी अल्मोड़ा पंकज भट्ट के सख्त रूख के चलते धोखाधड़ी के मामलों की लगातार जारी धरपकड़ के चलते अल्मोड़ा पुलिस को एक ओर बड़ी कामयाबी मिली है। जिसमें पुलिस ने फर्जी एजुकेशन काउन्सलर को गिरफ्तार किया है।
यहां पुलिस कार्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता में पुलिस अ​धीक्षक पंकज भट्ट ने बताया कि नगर के जौहरी बाजार अल्मोड़ा निवासी गौरी शंकर शाह पुत्र बद्रीदास शाह ने 13 जनवरी 2021 को कोतवाली अल्मोड़ा में एक तहरीर दी थी जिसमें गौरी शंकर शाह ने अभिषेक मौर्य पुत्र अरविंद मौर्य उत्तर प्रदेश के खिलाफ भारतीय विद्या ​पीठ लॉ कालेज पुणे मेें उनके पुत्र को दाखिला दिलाने के नाम पर 5 लाख 5 हजार 150 रकम हड़प लेने की बात कही। उक्त संबंध में अभियुक्त् के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच एसआई रणजीत सिंह कसाना को सौंपी गयी। जिसके बाद एसएसपी अल्मोड़ा द्वारा मामले में विवेचक को दिये गये दिशा निर्देशों के तहत टीम को त्वरित कार्यवाही कर और फर्जी काउन्सलर को गिरफ्तार किये जाने हेतु कार्यवाही करने के निर्देश के अनुपालन में पुलिस टीम द्वारा अभियुक्त की गिरफ्तारी के लिए धरपकड़ की गयी। जिसके बाद अभियुक्त को गिरफ्तार कर थाने लाया गया।
पूछताछ में अभियुक्त् द्वारा अपना अपराध स्वीकार कर बताया गया कि अभियुक्त द्वारा एजुकेशन काउंसलर बनकर भारती विद्यापीठ लॉ कॉलेज पुणे में वादी के पुत्र का एडमिशन कराने हेतु फाॅर्म फीस देने हेतु कहा गया जिस पर वादी द्वारा 24 अक्टूबर को सर्वप्रथम- 2150 रूपये उसके यूनियन बैंक खाते में डलवाये गये। इसके बार अलग अलग तिथियों में एडमिशन के नाम पर 1,28000 रूपये उसके बाद वह बच्चे के भविष्य की उज्जवल बनाने हेतु अपनी बातों में फॅसाते हुए एवं सीट फुल हो जाने का झाॅसा देकर 1,40000 रूपये, 80,000 रूपये तथा 1,55000 रूपये अलग-अलग तिथियों में ठग द्वारा अपने खाते में कुल- 5,05150 रूपये (पाॅच लाख पाॅच हजार एक सौ पचास रूपये) डलवाये गये। रुपये डलवाने के बाद भी वादी के लड़के का एडमिशन न किये जाने एवं पैसे वापस माॅगने पर आनाकानी करने पर ठगी का अहसास हुआ एवं कोतवाली आकर अभियोग पंजीकृत करवाया गया। जिसके बाद एसएसपी अल्मोड़ा द्वारा पुलिस टीम के उत्साहवर्धन हेतु 1 हजार रूपये का नकद पुरस्कार दिया गया।
अभियुक्त द्वारा अपराध करने का तरीका—
अभियुक्त ने गूगल एवं फेसबुक पर एडमिशन ओपन के नाम से विज्ञापन प्रचारित करते हुए, भारती विद्यापीठ पुणे जो कि इण्डिया का सर्वोत्तम लाॅ काॅलेज माना जाता है का विद्यार्थी होना बताया गया और 2011 में बीटेक कम्प्लीट किया जाना उल्लेख किया गया। अभियुक्त लगभग 10 वर्षो से इसी तरीके से काम करता है तथा पुणे में एक फ्लैट में रहता है। गूगल एवं फेसबुक पर भारती विद्या पीठ लॉ कॉलेज एवं अन्य कॉलेज में दाखिला हेतु कॉलेज प्रशासन या काउन्सलर बनकर एडमिशन ओपन संबंधित विज्ञापन, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर आदि का प्रचार प्रसार करता है। एडमिशन कराने हेतु लोग गूगल पर काॅलेजों का नाम सर्च करते हैं तो ठगों द्वारा दिये गये विज्ञापन एवं मोबाइल नम्बर पर सम्पर्क किया जाता है, ठग द्वारा उन्हें लगातार ईमेल आईडी एवं एडमिशन फॉर्म आदि उपलब्ध कराया जाता है तथा झासे में लेकर इनसे रकम मांगी जाती है। जिससे लोगों की मेहनत की कमाई ठगों की जेब में चली जाती है।
एसएसपी अल्मोड़ा की जनता से अपील—
एसएसपी अल्मोड़ा श्री पंकज भट्ट ने सभी नागरिकों को सावधान रहने की अपील करते हुए कहा कि नामी काॅलेजो/संस्थानों में दाखिले के नाम पर आन-लाईन ठगी का खेल चल रहा है, कहीं आप भी शिकार न बन जायें। फर्जी वेबसाइटों से सावधान रहें, अधिकारिक वेबसाइट से ही जानकारी प्राप्त करें। आपकी एक गलती से आपकी मेहनत की कमाई ठगों की जेब में जा सकती है। यदि आप ठगी का शिकार हो गये हों तो तत्काल नजदीगी थाना, साईबर सैल को सूचित करें।

अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉक्टर आर जी नौटियाल का संदेश

Copyright © शक्ति न्यूज़ | Newsphere by AF themes.