Thu. Feb 25th, 2021

शक्ति न्यूज अल्मोड़ा |

1918 से प्रकाशित शक्ति अखबार का डिजीटल प्लेटफार्म

जेईई मेन परीक्षा (Jee main exam) दे रहे छात्रों को बड़ी राहत

1 min read
Slider

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने मंगलवार को उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘आईआईटी जेईई (एडवांस्ड) और पिछले अकादमिक वर्ष को लेकर लिए गए फैसले को ध्यान में रखते हुए अगले अकादमिक सत्र 2021-2022 के लिए जेईई मेन के लिए 12वीं में 75 फीसदी मार्क्स संबंधी पात्रता नियम को हटाने का फैसला लिया गया है। NIT, IIIT और अन्य केंद्रीय वित्त पोषित तकनीकी संस्थानों आदि में बीटेक, बीई कोर्सेज में प्रवेश के लिए जेईई मेन एग्जाम आयोजित होता है। शिक्षा मंत्रालय की इस घोषणा के बाद एनआईटी, आईआईआईटी, सीएफटीआई संस्थानों में दाखिले के लिए 12वीं में 75 फीसदी मार्क्स होना अनिवार्य नहीं रह गया है।जेईई मेन में अच्छा प्रदर्शन करने वाले छात्रों को जेईई एडवांस्ड परीक्षा में बैठने का मौका मिलेगा। जेईई एडवांस्ड परीक्षा के जरिए देश के प्रतिष्ठित 23 आईआईटी संस्थानों में एंट्री मिलती है। जेईई एडवांस परीक्षा के लिये भी 12वीं कक्षा में 75 फीसदी अंक के निर्धारित पात्रता मानदंड में इस बार भी छूट दी गयी है। पिछले वर्ष भी कोरोना के चलते इस नियम से विद्यार्थियों को छूट दी गई थी। 2020 से पहले तक जेईई एडवांस्ड मेरिट नियम के तहत आईआईटी में दाखिले के लिए 12वीं में न्यूनतम 75 फीसदी अंक या क्वॉलिफाई करने वाली परीक्षा की रैंकिंग में टॉप 20 पर्सेंटाइल होना जरूरी होता था।
जेईई, नीट प्रवेश परीक्षा 2021 का सिलेबस पिछले साल जैसा रहेगा: शिक्षा मंत्रालय
शिक्षा मंत्रालय ने यह भी कहा है कि जेईई मेन और नीट परीक्षा का सिलेबस पिछले साल जैसा ही रहेगा। उसमें कोई बदलाव नहीं होगा।

Copyright © शक्ति न्यूज़ | Newsphere by AF themes.