June 15, 2021

शक्ति न्यूज अल्मोड़ा |

1918 से प्रकाशित शक्ति अखबार का डिजीटल प्लेटफार्म

अल्मोड़ा पुलिस का सराहनीय प्रयास – मिशन हौसला के अन्तर्गत पुलिस विभाग द्वारा रक्तदान

जीरो टालरेस की बात करने वाली भाजपा सरकार भष्टाचार पर चर्चा को तक तैयारी नहीं— कुंजवाल

1 min read

Subscribe Channel

सोमवार 08 मार्च 2021
रिर्पोट। एस एस कपकोटी।
पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल ने भाजपा सरकार पर हमला बोलते हुवे कहा कि जीरो टालरेंस की बात करने वाली भाजपा सरकार आज उनके कार्यकाल में हुवे घोटालों पर चर्चा तक को तैयार नहीं है। इससे साफ जाहिर होता है ​भाजपा सरकार की कथनी और करनी में जमीन आसमान का फर्क है। यह बात ​रविवार को पत्रकारों से बात करते हुवे जागेश्वर के विधायक व पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल ने कही। उन्होंने कहा कि गैरसैंण में चले सत्र के दौरान कांग्रेस ने सदन में भष्टाचार पर बहस करने के लिए 310 के तहत अनुमति मांगी थी जिस पर संसदी कार्यमंत्री ने साफ कह दिया कि सरकार इस पर कोई जवाब नहीं देगी। जिससे संसदीय कार्यमंत्री का तानाशाही रवैये को साफ दर्शाता है।
कुंजवाल ने भाजपा सरकार के चार सालों में हुवे घाटालों के बारे में बताते हुवे कहा कि कर्मकार बोर्ड में हुवे 400 करोड़ के घोटाले और पशु पालन विभाग में 300 करोड़ का घोटाला सामने आया है जिस पर आज ​तक भाजपा सरकार चुप्पी साधे हुवे है और भाजपा के ही केंद्रीय मंत्री डा0 निशंक ने भी कुंभ में हुवे घोटाले की बात को स्वीकार है लेकिन आज तक सरकार की ओर से किसी भी मामले में कार्यवाही नहीं की गयी। साथ ही कुंजवाल ने गैरसैंण में चल रहे सदन के अचानक स्थगित किये जाने के सवाल पर कहा कि यदि किसी भी पार्टी के उच्च स्तरीय कोर कमेटी की बैठक होने पर सदन को स्थगति कर अगले दिन पुन: सदन चलाया जाता है। लेकिन जिस तरीके से गैरसैंण में सदन को आनन फानन में समाप्त कर बीजेपी के लोग वापस देहरादून को दौड़े उससे सदन की गरिमा को ठेस पहुंची। सीएम पर हमला बोलते हुवे कुंजवाल ने कहा कि सीएम पर लगे आरोप पर हाईकोर्ट द्वारा सीबीआई जांच के आदेश दिये थे जिस पर सुप्रीम कोर्ट से स्टे है। जब सरकार इस प्रकार अपने ही घोटालों में मुंह फेरती नजर आये तो आम जनता सरकार से क्या उम्मीद लगा सकती है। उन्होंने गैरसैंण कमीशनरी बनाये जाने को लेकर कहा कि लंबे से जिसको सरकार जिला नहीं बना सकी उसे सीधे कमीशनरी का दर्जा दिया जाना ये समझ से परे है। परंतु दुर्भाग्य की बात ये है कि अल्मोड़ा जो कि ब्रिटिश काल की कमीशनरी रही है और सांस्कृतिक विरासत संजायेे हुवे है उसे नये मंडल गैरसैंण में मिलाना दुर्भाग्यपूर्ण निर्णय है। इसका सभी जनपद वासियों को पुरजोर विरोध करना चाहिए जिससे की हमारी सांस्कृतिक विरासत बची रहे।
इस मौके पर जिलाध्यक्ष पीताबंर पाण्डे, नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्र जोशी, हेम तिवारी, वैभव पाण्डे आदि लोग उपस्थित थे।

अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉक्टर आर जी नौटियाल का संदेश

Copyright © शक्ति न्यूज़ | Newsphere by AF themes.