June 15, 2021

शक्ति न्यूज अल्मोड़ा |

1918 से प्रकाशित शक्ति अखबार का डिजीटल प्लेटफार्म

अल्मोड़ा पुलिस का सराहनीय प्रयास – मिशन हौसला के अन्तर्गत पुलिस विभाग द्वारा रक्तदान

चमोली आपदा अपडेट— चमोली आपदा में राहत व बचाव कार्यो को ले्कर अब तक की ताजा जानकारी

1 min read
चमोली आपदा

Subscribe Channel

रिर्पोट। एस एस कपकोटी।
11 फरवरी 2021
चमोली जिले के रैणी गांव क्षेत्र में आयी आपदा के पांचवे दिन भी लगातार राहत बचाव कार्य जारी है। जिसमें तपोवन जल विद्युत परियोजना की निर्माणाधीन सुरंग में फंसे हुवे लोगों को निकालने के लिए बचाव खोजीदल दिन रात जुटा है। अभी तक इस आपदा में 170 लोग लापता है और 34 लोगों के शव ​बरामद कर लिये गये है। जिनमें से 09 शवों की शिनाख्त भी हो चुकी हैं। साथ ही अलग अलग जगहों क्षत-विक्षत स्थिति में 12 मानव अंग में मिले हैं।


राज्य के मुख्य सचिव ओम प्रकाश के अनुसार अन्य राज्यों से आने वाले मृतक के परिजनों के द्वारा शवों के शिनाख्त करने हेतु राज्य सरकार द्वारा एक दिन बढाया गया है। जिसक तहत अब शवों को शिनाख्त के लिए 72 घंटे के स्थान पर 96 घंटे सुरक्षित रखा जायेंगा।
प्रदेश के राज्यपाल व विधानसभा अध्यक्ष आज बृहस्पतिवार को आपदा प्रभारी क्षेत्रों में राहत कार्यो का जायजा लेने पहुंचेंगे। उधर टनल में घुसने के लिए विशेषज्ञों की टीम द्वारा वैकल्पिक रास्ते की तलाश की जा रही है। एनटीपीसी के अधिकारियों का कहना है कि सुरंग के चारों से मलवा आने के कारण बंद हो जाने से वै​कल्पिक रास्ता खोजने में दिक्कत आ रही है। बताया यह भी जा रहा है कि तीन किलोमीटर लंबी इस सुरंग के 180 मीटर पर एक मोड है इसी मोड पर लोगों के फंसे होने की आशंका जताई जा रही है। जहां पर भारी मात्रा में मलवा आने से बचाव दल के समक्ष उस स्थान तक पहुंचने में कठिनाई हो रही है। इस जलप्रयलय में लापता हुवे लोगों की तलाश में तपोवन और रैणी पहुंचे उनके परिजनों का धैर्य टूटने लगा है। ये परिजन परियोजना के टनल से 500 मीटर दूर बैठे है और सुरंग के अंदर बाहर कार्य कर रहे रेस्क्यू टीमों को उम्मीद भरी निगाहों से देख रहे है। शक्ति न्यूज परिवार की ने इस दुखद भरी घटना में मृतकों के परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है। आगे इस खबर पर अपडेट के लिए पढ़ते रहे शक्ति सामाचार।

अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉक्टर आर जी नौटियाल का संदेश

Copyright © शक्ति न्यूज़ | Newsphere by AF themes.