Sat. Nov 28th, 2020

शक्ति न्यूज अल्मोड़ा |

1918 से प्रकाशित शक्ति अखबार का डिजीटल प्लेटफार्म

सोशल एक्टिविस्ट मोहन चंद्र उपाध्याय की गुहार के बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र धौलादेवी को मिली एक्सरे मशीन

1 min read

जनपद अल्मोड़ा के धौलादेवी ब्लॉक की आम जनता के लिये इस बार दीपावली विशेष सौगात लेकर आयी। बीते शुक्रवार धनतेरस के दिन दशकों बाद राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के तहत स्वास्थ्य विभाग उत्तराखण्ड ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र धौलादेवी को आँखिरकर एक्सरे मशीन सौंप दी है।प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्रामीण क्षेत्र की अग्रणी सामाजिक संस्था ग्रामीण विकास जन सँघर्ष समिति के कार्यकारी निदेशक, स्वतंत्र पत्रकार और जाने माने युवा समाजसेवी मोहन चंद्र उपाध्याय ने सार्वजनिक सुविधा से जुड़े इस मामले में लोकशिकायत निवारण के तहत उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्रालय को गुहार लगाई थी। जिसके तहत अल्मोड़ा जिले के धौलादेवी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की बदहाली और उसके फलस्वरूप क्षेत्र के आम नागरिकों की दुर्गति का पूरा ब्यौरा सौंपकर सीएचसी मानकों के तहत इस स्वास्थ्य केंद्र पर एक्सरे,अल्ट्रासाउंड,मेडिकल स्टाफ तथा पैथोलॉजी लैब जैसी बुनियादी सुविधाओं की ब्यवस्था के लिए माँग की गयी थी।इस लोक शिकायत पर चार स्तर पर सुनवाई होने के बाद 4 सितम्बर 2020 को स्वास्थ्य विभाग ने इसे स्वीकृति देते हुऐ उच्च स्तर पर मान्य के लिए लिए मंत्रालय के शीर्षतम अधिकारियों को भेजा था। उसके बाद 13 नवम्बर 2020 को विभाग द्वारा एक्सरे मशीन धौलादेवी स्वास्थ्य केंद्र को सौंप दी गयी। ज्ञात हो कि उत्तराखण्ड शासन ने सन 2004 में धौलादेवी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का उच्चीकरण की स्वीकृति प्रदान की थी। उसके बाद करोड़ों के भवन निर्माण भी हुये लेकिन 16 साल बीत जाने के बाद भी इस स्वास्थ्य केंद्र में सीएचसी मानक के तहत आम जनता को सामान्य सुविधा तक नही मिल पाई है।

औसतन 150 से 200 मरीज प्रतिदिन इस अस्पताल में ईलाज के लिए आते हैं,जिनमें से अधिकतर को 60-70 किलोमीटर दूर जिला मुख्यालय में एक्सरे,अल्ट्रासाउंड और पैथोलॉजी टेस्ट करवाने के लिए जाना पड़ता है। टैस्टिंग असुविधा के कारण पूरे विकासखण्ड की आम जनता लम्बे वक्त से बेहद त्रस्त है। खासकर क्षेत्र के अधिकांश किसान और गरीब वर्ग के लोग इन सामान्य टेस्ट के लिए सुदूर जिला मुख्यालय तक बार-बार नही जा पा रहे हैं।जिसके चलते वह बिना किसी टेस्ट के अंदाज से दवाईयों का इस्तेमाल करने को मजबूर हैं। इस स्वास्थ्य केंद्र की बदहाली के मसले को मुख्यमंत्री कार्यालय तक ले जाने वाले सामाजिक कार्यकर्ता मोहन चंद्र उपाध्याय ने सरकार के इस फैसले से खुशी का इजहार करते हुये उनके द्वारा गुहार लगाई गयीं 3 अन्य माँगों जिसमें अल्ट्रासाउंड मशीन, पैथोलॉजी लैब संचालन और आवश्यक मेडिकल स्टॉफ की तैनाती के लिए भी सरकार से त्वरित समाधान की अपील की है।दशकों बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक्सरे मशीन लगने की खबर से जहाँ क्षेत्र की आम जनता में खुशी की लहर दौड़ पड़ी है,वही ग्रामीण विकास जनसंघर्ष समिति के सामाजिक कार्यकर्ता तारा दत्त शर्मा, अधिवक्ता पूरन सिंह बिष्ट,केशवदत्त जोशी, अधिवक्ता मदन-मोहन पांडेय, IIT स्कॉलर भूवन चंद्र उपाध्याय, दयाल पांडेय आदि ने भी सरकार के इस फैसले का स्वागत करते हुऐ सामाजिक कार्यकर्ता मोहन चंद्र उपाध्याय के प्रयासों की सराहना की है।

Copyright © शक्ति न्यूज़ | Newsphere by AF themes.