Fri. Nov 27th, 2020

शक्ति न्यूज अल्मोड़ा |

1918 से प्रकाशित शक्ति अखबार का डिजीटल प्लेटफार्म

एनजीटी के आदेश के वाद प्रदेश सरकार ने जीबी पंत संस्थान कोसी कटारमल को पर्यावरण प्रबंधन योजना तैयार करने की जिम्मेदारी सौंपी

1 min read


संवाद । एस0 एस0 कपकोटी
उत्तराखंड में प्रदूषण को बढ़ने से रोकने और पर्यावरण संरक्षण के लिए एनजीटी ने राज्य सरकार को पर्यावरण प्रबंधन योजना लागू करने के आदेश दिये । जिसके वाद राज्य सरकार ने अब पर्यावरण प्रबंधन योजना तैयार करने के लिए जीबी पंत हिमालय पर्यावरण विकास संस्थान कोसी कटारमल को जिम्मेदारी सौंपी है। बता दें कि अभी तक उत्तराखंड राज्य में प्रदूषण नियंत्रण के लिए कोई ठोस नीति नहीं बनी है। वर्तमान में कूड़े, सीवरेज, बायो मेडिकल आदि को छोड़कर कई अन्य तरह के अवशिष्ट निस्तारण की जिम्मेदारी स्पष्ट रूप से तय नहीं है और विभाग एक दूसरे पर जिम्मेदारी डालने का प्रयास करते हैं। इसे देखते हुए एनजीटी ने प्रदेश सरकार को इस संबंध में आदेश जारी किया है । जीबी पंत पर्यावरण संस्थान के निदेशक डॉ.आरएस रावल ने बताया कि सभी 13 जिलों और प्रदेश की पर्यावरण प्रबंधन योजना को तैयार करने में करीब एक साल का वक्त लगेगा।  इसके लिए जीबी पंत संस्थान के निदेशक डॉ.आरएस रावल समन्वयक के तौर पर और संस्थान के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. जेसी कुनियाल मुख्य अन्वेषक बनाए गए हैं। शासन के निर्देश के मुताबिक हर जिले के जिलाधिकारी समिति के अध्यक्ष और डीएफओ पदेन सचिव बनाए गए हैं। इसके अलावा इस योजना से जुड़े विभागों के विभागाध्यक्ष सदस्य होंगे।
उन्होंने बताया कि हर जिले में संबंधित विभागों से प्रस्तावित योजना से जुड़ी सभी तरह की जानकारियां प्राप्त करने के लिए एक फार्मेट (प्रपत्र) तैयार किया जा रहा है। इस योजना के तहत हर तरह के अवशिष्ट के निस्तारण के लिए संबंधित विभाग को जिम्मेदारी दी जाएगी। पूरी कार्ययोजना बनने के बाद इसे सरकार को सौंप दिया जाएगा।

Copyright © शक्ति न्यूज़ | Newsphere by AF themes.