Sat. Oct 24th, 2020

शक्ति न्यूज अल्मोड़ा |

1918 से प्रकाशित शक्ति अखबार का डिजीटल प्लेटफार्म

सूचना के अधिकार अधिनियम के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं अधिकारी

1 min read
Slider

सरकार द्वारा आम आदमी को अपने अधिकारों को जानने के लिए और सरकार की योजनाओं के बारे में जानकारी लेने के लिए सामाजिक हित में जो एक अस्त्र के रूप में सूचना का अधिकार अधिनियम दिया गया है सरकार के अधिकारी उस अधिनियम से खिलवाड़ कर रहे हैं जैसा कि आरटीआई से पता चला है की लोक सूचना अधिकारी व अपीलीय अधिकारी इस आरटीआई एक्ट को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं इसी का एक उदाहरण देखने को मिला जब आरटीआई कार्यकर्ता एस0एस0 कपकोटी द्वारा सूचना के अधिकार अधिनियम के तहत खंड विकास अधिकारी हवालबाग से जनहित में कुछ जानकारी मांगी गई थी जिस पर खंड विकास अधिकारी विभाग द्वारा वह जानकारी नहीं दी गई जिसकी प्रथम अपील जिला विकास अधिकारी के यहां की गई। जिला विकास अधिकारी द्वारा अपील की तिथि के दिन किसी मीटिंग में होने का हवाला देते हुए कार्यालय में प्रशासनिक अधिकारी को अपील सुनने के लिए आदेशित किया था। दूसरी तरफ खंड विकास अधिकारी द्वारा जो अपने प्रतिनिधि के रूप में अपील में भेजा गया उसका कहना था कि मुझे इसकी कोई जानकारी नहीं है। उसके बाद उसने फोन से खंड विकास अधिकारी को अपील से संबंधित सूचनाओं की जानकारी के बारे में बताया कि एक दूसरे मामले में मुख्य विकास अधिकारी के यहां प्रथम अपील दर्ज होती है। अपील के दिन मुख्य विकास अधिकारी किसी मीटिंग में चले जाते हैं और अपील की सुनवाई के लिए मुख्य विकास अधिकारी कार्यालय में किसी को पता तक नहीं होता इसका पता अपीलार्थी को अपील के दिन अपील के समय अपीलीय अधिकारी के कार्यालय में पहुंचने के बाद पता चलता है इसके बाद मुख्य विकास अधिकारी द्वारा जब अगली अपील की तिथि निर्धारित की जाती है उसकी भी जानकारी समय पर अपीलार्थी को नहीं दी जाती है अपीलार्थी को एक घंटा पहले अपील के तिथि के दिन मुख्य विकास अधिकारी कार्यालय से दूरभाष में बताया जाता है कि आज अपील की तिथि है हमने आपको लेटर भेज दिया था अपीलार्थी को वह पत्र अपील की तिथि के एक दिन बाद मिलता है। इस पर अपीलार्थी के द्वारा मुख्य विकास अधिकारी कार्यालय से दूरभाष पर संपर्क करने वाले को बताया जाता है कि अपील को अगली तिथि निर्धारित की जाए परंतु अपीली अधिकारी/मुख्य विकास अधिकारी द्वारा अपील की एक तरफा सुनवाई कर दी जाती है। इससे यह साफ पता चलता है कि अधिकार सूचना अधिकार अधिनियम के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।

Copyright © शक्ति न्यूज़ | Newsphere by AF themes.