May 26, 2022

Shakti Almora

-since from 1815

शारदीय नवरात्र आज मां कालरात्रि की पूजा

शारदीय नवरात्रों के सातवें दिन आज मां कालरात्रि की पूजा की जा रही है। आज सावते दिन नगर और ग्रामीण क्षेत्रों में दुर्गा पण्डालों में श्रृद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है। श्रृद्धालुओं ने माता कालरात्रि की विधिवत पूजा अर्चना की।
मां दुर्गा की सातवीं शक्ति कालरात्रि के रुप में जानी जाती हैं कहते है कि मां कालरात्रि की उपासना से प्रतिकूल ग्रहों से उत्पन्न की जाने वाली बाधायें दूर हो जाती है तथा अपने भक्तों के लिये सदैव शुभ फल देने वाली होती है। मां कालरात्रि दुष्टों का नाश करने वाली है। दानव, दैत्य, राक्षस, भूत—प्रेत आदि इसके स्मरण मात्र से भयभीत होकर भाग जाते है। मां का कालरा​त्रि स्वरुप अत्यधिक भयावह है भयावह रुप होने के बावजूद शुभफल देने वाली मां काल​रात्रि भक्तों को अभय प्रदान करती ह। मां का यह रुप ज्ञान और वैराग्य प्रदान करता है। योगी साधको द्वारा कालरात्रि का स्मरण सहस्भार चक्र में ध्यान केन्द्रित करके किया जाता है। कालरात्रि के चार हाथों में से दो हाथों में शस्त्र रहते है एक हाथ अभय मुद्रा में तथा एक हाथ वर मुद्रा में रहता है।
नवरात्रि के सातवें दिन मां कालरात्रि को गुड़ का नैवेद्य अर्पित ​करने से शोक मुक्त रहने का वरदान प्राप्त होता है और भक्तों के पास दरिद्रता नहीं आती।

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.