Fri. Aug 7th, 2020

शक्ति न्यूज अल्मोड़ा |

1918 से प्रकाशित शक्ति अखबार का डिजीटल प्लेटफार्म

मुंबई में फंसे प्रवासियों के मामले में तुरंत फैसला ले, हाईकोर्ट ने सरकार व रेलवे को दिए निर्देश *

1 min read

नैनीताल। उत्तराखंड हाइकोर्ट ने प्रवासी सहयोगी टीम की सदस्या रामनगर निवासी श्वेता मासीवाल की हस्तक्षेप याचिका का संज्ञान लेते हुए सोमवार को दिशा निर्देश जारी किए। अदालत ने राज्य सरकार और भारतीय रेलवे से मुम्बई में अब भी फंसे 2600 उत्तराखंडी प्रवासियों को वापस लाने के मामले में तुरन्त निर्णय लेने को कहा है और इस मामले में न्यायालय में 17 जून को जवाब पेश करने के लिए कहा है। मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति रमेश रंगनाथन व न्यायमूर्ति आरसी खुल्बे की खण्डपीठ ने मामले की सुनवाई की। प्रवासी सहयोगी टीम की सदस्या रामनगर निवासी श्वेता मासीवाल ने कांग्रेस के प्रीतम सिंह की जनहित
याचिका में अपने को पक्षकार बनाने को लेकर प्रार्थना पत्र पेश किया है। इसमें कहा है कि 30 अप्रैल से पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करा कर वापसी का इंतजार कर रहे 2600 उत्तराखंडी प्रवासियों को मुम्बई से वापस लाने के मामले में राज्य सरकार अड़ियल रवैया अपना रही है। प्रवासी सहायता टीम के अधिवक्ता दुष्यन्त मैनाली ने बताया कि टीम के कई बार संपर्क करने के बाद भी राज्य सरकार द्वारा इस मामले में महाराष्ट्र को एनओसी नहीं दी गई। जबकि टीम के अनुरोध पर महाराष्ट्र सरकार के अधिकारियों ने उत्तराखंड के नोडल अधिकारियों से तथा टीम ने भी लगातार 26 मई से कई बार संपर्क कर उत्तराखंड सरकार से अनुरोध किया था। इस पर सुनवाई के बाद अदालत ने उक्त आदेश दिए हैं।

Copyright © शक्ति न्यूज़ | Newsphere by AF themes.