June 15, 2021

शक्ति न्यूज अल्मोड़ा |

1918 से प्रकाशित शक्ति अखबार का डिजीटल प्लेटफार्म

अल्मोड़ा पुलिस का सराहनीय प्रयास – मिशन हौसला के अन्तर्गत पुलिस विभाग द्वारा रक्तदान

किसान आंदोलन के समर्थन में उत्तराखंड में चलाया जाएगा अभियान— उपपा

1 min read

Subscribe Channel

बृहस्पतिवार 11 फरवरी 2021
कृषि सुधार के नाम पर लाए गए तीन काले कानूनों को लेकर देश भर में चल रहे आंदोलन के बीच उत्तराखंड के जन आंदोलन की ओर से प्रखर राज्य आंदोलनकारी प्रभात ध्यानी, काशीपुर से किसान नेता अवतार सिंह, चिपको, नशा नहीं रोज़गार दो और नानीसार जैसे जन आंदोलन के नेतृत्वकारी पी. सी. तिवारी ने गाज़ीपुर बॉर्डर पर पिछले ढाई माह से बैठे किसानों, किसान नेताओं से मुलाक़ात कर उन्हें उत्तराखंड का जल भेंट कर आंदोलन से अपनी एकजुटता ज़ाहिर की। गाज़ीपुर बॉर्डर पर किसान आंदोलन के मंच पर आंदोलन के प्रखर चर्चित नेता राकेश टिकैत एवं उनके साथियों ने उत्तराखंड की पहल का स्वागत किया।
इसके बाद आंदोलन के मंच से उत्तराखंडी नेताओं ने अपने संबोधन में केंद्र की मोदी सरकार पर अंबानी अडानी जैसे पूंजीपतियों के हित में लाए जा रहे इन काले कानूनों का विरोध करते हुए उन्हें वापस लेने की मांग की और प्रधानमंत्री द्वारा संसद में आंदोलनकारियों को परजीवी कहने की तीव्र भर्त्सना करते हुए कहा कि देश के प्रधानमंत्री की भाषा उनकी घटिया सोच व तंग ख़याली बौखलाहट का प्रतीक है जिससे प्रधानमंत्री पद की गरिमा कम हुई है। तिवारी एवं प्रभात ध्यानी ने कहा कि किसान आंदोलन के दमन की साज़िश बर्दाश्त नहीं होंगी। उन्होंने तीनों काले कृषि कानून वापस लेने, न्यूनतम समर्थन मूल्य की कानूनी गारंटी लेने की मांग की।

अल्मोड़ा मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉक्टर आर जी नौटियाल का संदेश

Copyright © शक्ति न्यूज़ | Newsphere by AF themes.