Thu. Oct 1st, 2020

शक्ति न्यूज अल्मोड़ा |

1918 से प्रकाशित शक्ति अखबार का डिजीटल प्लेटफार्म

अल्मोड़ा महोत्सव के पहले दिन स्वराग बैण्ड के नाम रही

1 min read
Slider

अल्मोड़ा महोत्सव के पहले दिन जयपुर से आयी ‘‘स्वराग बैण्ड’’ के नाम रही। जीआईसी मैदान में देर रात तक चले कार्यक्रमों में स्वराग टीम के कलाकरों ने सांस्कृतिक नगरी को सरोकार कर दिया। उन्होंने प्रसिद्ध करताल से लोगो को मंत्रमुग्ध कर दिया। स्वराग बैण्ड के कलाकारों ने ‘‘माही मेनू छडयो ना’’, तेरे रश्के कमर तूने पहली नजर’’, ‘‘तेरे बिन दिल नही लगंदा‘‘, ‘‘ऐ मेरी जमी ऐ मेरे वतन‘‘ सहित प्रसिद्ध राजस्थानी गीत ‘‘केसरिया बालम पधारो म्हारे देश रे आदि गीतो पर उपस्थित दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया। उनके गीतो पर दर्शक अपनी जगह व स्टेज में जाकर नाचने लगे।
कार्यक्रमों की श्रृंखला में इससे पूर्व श्रीराम भारतीय कला केन्द्र के कलाकरों ने रामलीला का भी मंचन किया गया। उन्होंनेे सम्पूर्ण रामायण, राम जन्म से लेकर राज्यभिषेक तक 02 घण्टे में कत्थक, छाप व भरतनाट्यम के रूप में प्रस्तुत किया। इस दौरान सीता स्वयंवर, शूर्पनखा प्रसंग व सीता हरण आदि रोचक पल काफी आकर्षक का केन्द्र रहे। इस दौरान भारतीय राम कला केन्द्र की निर्देशक पदमश्री शोभा दीपक सिंह के निर्देशन में 25-30 कलाकरो ने सम्पूर्ण रामलीला का मंचन किया। उनके निर्देशन में 63 वर्षो से देश व विदेशों में भी रामायण का मंचन किया जा रहा है। महोत्सव में सैण्ड आर्टिस्ट रजत कुमार ने ‘‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ‘‘ पर आधारित सैण्ड आर्ट का प्रदर्शन किया। इस अवसर पर जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने कार्यक्रम में आये कलाकारो को स्मृति चिन्ह् देकर सम्मानित किया।
इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पी0एन0 मीणा, मुख्य विकास अधिकारी मनुज गोयल, अपर जिलाधिकारी बी0एल0 फिरमाल, उपजिलाधिकारी सीमा विश्वकर्मा, पर्यटन अधिकारी राहुल चौबे, आपदा प्रबन्धन अधिकारी राकेश जोशी, मुख्य शिक्षाधिकारी जगमोहन सोनी, सी0ओ0 कमल राम आर्या, परियोजना प्रबन्धक आजीविका कैलाश भट्ट, विनोद राठौर, जे0सी0 दुर्गापाल, गिरीश मल्होत्रा, सहायक निबन्धक सहकारिता राजेश चौहान के अलावा अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी, अल्मोड़ा महोत्सव के स्वयंसेवक व अनेक लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन विद्या कर्नाटक व वर्षा शर्मा ने किया।

Copyright © शक्ति न्यूज़ | Newsphere by AF themes.