May 26, 2022

Shakti Almora

-since from 1815

पहाड़ के पर्यावरण को बचाने की युवाओं की अनूठी पहल

1 min read

जहाँ एक ओर स्वच्छता अभियान की सफ़लता को हम भारत में एक क्रांति से ज़रा भी कम नहीं आँकते, वहीं दूसरी ओर हम स्वच्छता से परोक्ष रूप से जुड़े एक और पहलू को नजर अंदाज़ कर रहे हैं। भारत सरकार ने पिछले कई सालों में युवा उत्थान के लिए असंख्य योजनाओं का प्रबंध किया है जिसका सीधा सीधा तात्पर्य ये निकाला जा सकता है की सरकार इस बात से अवगत है कि देश में युवाओं की भूमिका कितनी महत्वपूर्ण है। लेकिन ये जानने में कहीं न कहीं हम ही असफ़ल रहे हैं। ये भी कहना ग़लत नहीं होगा कि देश का युवा ही देश में स्वयं की भूमिका को अब तक पहचान नहीं पाया है। अब तक आप यह तो जान ही गए होंगे कि जो दूसरे पहलू की बात हुई थी वो ‘देश का युवा’ है। हम अपने में इतने मगन हो गए हैं कि ये भूल चुके हैं कि हमारे वातावरण हो स्वच्छ रखने का दायित्व खुद की स्वच्छता से ज़रा भी कम नहीं है। इसी को याद दिलाने की एक पहल की है अल्मोड़ा के युवाओं ने। पिछले दो रविवार से अल्मोड़ा के कुछ युवकों एवं युवतियों ने शहर की सफ़ाई का दारोमदार अपने कंधों पर लेने का फैसला कर लिया है। पिछले ही रविवार की सफाई का प्रभाव ये हुआ कि अगले रविवार यानी आज ही दूसरे रविवार को अभियान से जुड़े सदस्यों की संख्या सात से बढ़कर सत्रह हो गयी। सात दिन में ही अल्मोड़ा के युवाओं में ये ख़बर आग की तरह फैल गयी। इस बात में ज़रा भी संदेह नहीं कि इस पहल ने अल्मोड़ा के सभी युवाओं को जागृत एवं जागरुक किया है। इस महत्वपूर्ण कदम को सभी ने सराहा है और इससे जुड़े लोगों को अपेक्षा है कि समस्त अल्मोड़ा इसे पूरा समर्थन देकर एक क्रांति का रूप देगा। अभी तक इस अभियान में जो युवा काम कर रहे हैं उन्होंने इसे टीम पहाड बचाओ नाम दिया है। इस पहल से जुड़ने के लिए आप भी instragram में @pahad_bachao पर जाकर उनकों follow और message कर सकते है।

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.