• शनि. जून 15th, 2024

चंडीगढ़ में गर्मी की छुट्टियाँ, बढ़ते तापमान के कारण कल से सभी स्कूल बंद

चंडीगढ़ में इस साल गर्मी की छुट्टियाँ पहले से ही शुरू हो रही हैं, क्योंकि क्षेत्र में तापमान में लगातार वृद्धि हो रही है। पहले यह छुट्टियाँ 1 जून से शुरू होने वाली थीं, लेकिन अब 22 मई से ही सभी स्कूल बंद रहेंगे। अगले कुछ दिनों में चंडीगढ़ का तापमान 46 डिग्री सेल्सियस तक पहुँचने की संभावना है।

चंडीगढ़ प्रशासन ने आदेश जारी किया है कि संघ राज्य क्षेत्र (यूटी) के सभी स्कूल बुधवार से बंद रहेंगे। यह फैसला इस तथ्य के आधार पर लिया गया है कि अत्यधिक गर्मी की लहर ने छात्रों के स्वास्थ्य पर संभावित खतरा उत्पन्न किया है। अधिकारियों ने बताया कि यह निर्णय छात्रों की सुरक्षा के मद्देनजर लिया गया है।

बढ़ते तापमान का प्रभाव

चंडीगढ़ में अगले तीन दिनों में तापमान 46 डिग्री सेल्सियस तक पहुँचने की संभावना है। वहीं, पंजाब और हरियाणा में यह 47 डिग्री सेल्सियस तक पहुँचने की संभावना है। इस बढ़ते तापमान ने पूरे क्षेत्र में चिंता की लहर पैदा कर दी है। प्रशासन ने जनता से भीषण गर्मी से बचाव के लिए विशेष सावधानियाँ बरतने की अपील की है।

प्रशासनिक आदेश

चंडीगढ़ के स्कूल शिक्षा निदेशक एच पी एस ब्रार ने इस संदर्भ में आदेश जारी किया है। यह आदेश तब आया जब दो दिन पहले ही यूटी ने स्कूलों के समय को दोपहर तक सीमित करने का निर्णय लिया था। अब, तापमान में और वृद्धि और अत्यधिक गर्मी की लहर की रिपोर्टों के बाद, संघ राज्य क्षेत्र ने सभी स्कूलों को निर्धारित गर्मी की छुट्टियों से पहले ही बंद करने का निर्णय लिया है।

आदेश में स्पष्ट रूप से कहा गया है, “क्षेत्र में चल रही तीव्र गर्मी की लहर को देखते हुए, जो स्कूल जाने वाले छात्रों के स्वास्थ्य को खतरे में डाल सकती है, इसलिए 22.5.2024 (बुधवार) से 30.6.2024 (रविवार) तक चंडीगढ़ के सभी स्कूल (सरकारी, सरकार सहायता प्राप्त और निजी मान्यता प्राप्त स्कूल) गर्मी की छुट्टियों के लिए बंद रहेंगे। यानी आज 21 मई 2024, गर्मी की छुट्टियों से पहले का आखिरी कार्य दिवस होगा।”

मौसम विभाग की चेतावनी

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने अगले छह दिनों के लिए चंडीगढ़, पंजाब और हरियाणा में अत्यधिक तीव्र गर्मी की लहर के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। उन्होंने जनता को सलाह दी है कि वे दोपहर 12 बजे से 4 बजे तक बाहरी गतिविधियों से बचें, क्योंकि इस समय के दौरान सूरज की किरणें सबसे अधिक तीव्र होती हैं।

पिछले दिनों का तापमान

रविवार और शनिवार को दर्ज किया गया उच्चतम तापमान क्रमशः 44.2 और 43.7 डिग्री सेल्सियस था। यह बढ़ता तापमान स्पष्ट रूप से दर्शाता है कि क्षेत्र में गर्मी की लहर कितनी तीव्र हो चुकी है। प्रशासन ने गर्मी के इस मौसम में विशेष सावधानी बरतने की अपील की है, खासकर बच्चों और बुजुर्गों के लिए, जिन्हें इस अत्यधिक तापमान में अधिक ध्यान देने की आवश्यकता होती है।

स्वास्थ्य संबंधी सावधानियाँ

स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने सलाह दी है कि इस गर्मी के मौसम में अधिक से अधिक पानी पिएं, हल्के और ढीले कपड़े पहनें और धूप में बाहर निकलने से बचें। उन्होंने यह भी सुझाव दिया है कि आवश्यकतानुसार घर के अंदर ही रहें और बाहर जाने की स्थिति में सिर को ढककर रखें। बच्चों को विशेष रूप से इस मौसम में अधिक ध्यान देने की जरूरत है, क्योंकि वे गर्मी के प्रभावों के प्रति अधिक संवेदनशील होते हैं।

गर्मी की छुट्टियों का यह फैसला छात्रों और अभिभावकों के लिए राहत की खबर है, क्योंकि इससे बच्चों को इस तीव्र गर्मी में सुरक्षित रहने का मौका मिलेगा। प्रशासन ने यह भी संकेत दिया है कि यदि आवश्यक हुआ, तो गर्मी की छुट्टियों को आगे बढ़ाने पर भी विचार किया जा सकता है।

चंडीगढ़ प्रशासन का यह कदम स्पष्ट रूप से छात्रों और उनके स्वास्थ्य की सुरक्षा को प्राथमिकता देने की दिशा में है। सभी नागरिकों से अपील की जाती है कि वे इस आदेश का पालन करें और इस गर्मी के मौसम में सुरक्षित रहें।