November 20, 2021

शक्ति न्यूज अल्मोड़ा |

1918 से प्रकाशित शक्ति अखबार का डिजीटल प्लेटफार्म

रिफरल सेंटर बने अस्पतालों में दम तोडती स्वास्थ्य व्यवस्थाओं की भेंट चढी एक और प्रसव पीड़िता

1 min read
सांकेतिक फोटो
advert aps
advert
advert rajesh boot house
advert prakash2
previous arrow
next arrow

खबर पिथौरागढ़ । यहां एक बार फिर लचर स्वास्थ्य व्यवस्थाओं और रिफरल सेंटर बनेे अस्पतालों के चलते एक और गर्भवती महिला को जान से हाथ धोना पडा। गर्भवती महिला को समय से उपचार न मिलने के कारण उसकी मौत हो गई ।
जानकारी के अनुसार धारचूला ब्लॉक के जम्कू गांव निवासी नंदा देवी (29) पत्नी जीवन सिंह को प्रसव पीड़ा उठने के बाद धारचूला अस्पताल लाया गया था। नंदा की तबियत ज्यादा खराब होने के बाद उसे हायर सेंटर पिथौरागढ़ जिला अस्पताल रेफर किया गया था। उसे अस्कोट की एंबुलेंस से जिला महिला अस्पताल लाया जा रहा था। अधिक रक्तस्राव होने के कारण गुड़ौली गांव के पास प्रसव पीड़िता ने दम तोड़ दिया। प्रसव पीड़िता की सांसे थमने के बाद 108 कर्मी प्रसव पीड़िता को डीडीहाट अस्पताल लाए। यहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। थानाध्यक्ष हिमांशु पंत ने बताया कि पंचनामा भरने के बाद शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। जहां एक ओर सरकार स्वास्थ सुविधाओ को लेकर लाख दावे करे लेकिन इस घटना के बाद इन दावों की सारी पोल खुल जा​ती है, क्या फायदा जगह जगह ऐसे अस्पताल खोलने से जिनमें एक प्रशूता को इलाज ना मिल सकें और उन्हें इधर उधर दौडना पडें। आये दिन ऐसे खबरे आती रहती है जो कि अत्यंत दु:खद है।

Copyright © शक्ति न्यूज़ | Newsphere by AF themes.