November 19, 2021

शक्ति न्यूज अल्मोड़ा |

1918 से प्रकाशित शक्ति अखबार का डिजीटल प्लेटफार्म

दून विश्वविद्यालय के कुलपति की नियुक्ति निरस्त

1 min read
advert aps
advert
advert rajesh boot house
advert prakash2
previous arrow
next arrow

दून विश्वविद्यालय के कुलपति चंद्रशेखर नौटियाल की नियुक्ति जोकि 2018 में तत्कालीन गवर्नर के के पॉल द्वारा की गई थी हाईकोर्ट ने अवैध करार देकर निरस्त कर दी बताते चलें कि आरटीआई कार्यकर्ता के द्वारा एक जनहित याचिका इस संबंध में दायर की गई थी याचिकाकर्ता का कहना था कि कुलपति के पद की नियुक्ति के लिए कम से कम 10 साल प्रोफ़ेसर होना अनिवार्य है जोकि नौटियाल के पास नहीं है इसके साथ ही अन्य कई तथ्य नौटियाल द्वारा छुपाए गए हैं आज माननीय उच्च न्यायालय ने नौटियाल की नियुक्ति को अवैध करार दिया और उनकी नियुक्ति निरस्त कर दी कोर्ट के इस फैसले से राजभवन को भी झटका लगा है साथ ही कोर्ट ने सरकार को आदेश दिया है कि नयी सर्च कमेटी का गठन कर नए कुलपति का चयन किया जाए।

Copyright © शक्ति न्यूज़ | Newsphere by AF themes.