October 18, 2021

शक्ति न्यूज अल्मोड़ा |

1918 से प्रकाशित शक्ति अखबार का डिजीटल प्लेटफार्म

एसएसजे0 विश्वविद्यालय में कोविड-19 महामारी के दौरान विभागीय उपलब्धियां एवं सम्मान समारोह आयोजित

1 min read
4ccbbf38-23e7-4bf1-9bb3-d8538bba1606
advert
previous arrow
next arrow

अल्मोड़ा। आजादी के अमृत महोत्सव-2021 के तहत वनस्पति विज्ञान विभाग, सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय अल्मोड़ा में कोविड-19 महामारी के दौरान विभागीय उपलब्धियां एवं सम्मान समारोह आयोजित किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि रूप में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 नरेंद्र सिंह भंडारी अध्यक्ष रूप में प्रो0 पी0 एस0 बिष्ट विशिष्ट अतिथि रूप में प्रो0 जया उप्रेती एवं डॉ0 देवेंद्र सिंह बिष्ट कार्यक्रम संयोजक डॉ0 बलवंत कुमार कार्यक्रम सहयोगी डॉ0 धनी आर्या, कार्यक्रम संचालक डॉ0 मंजूलता उपाध्याय, डॉ0 मनीष त्रिपाठी ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया।
कार्यक्रम में डॉ0 बलवंत कुमार ने वनस्पति विज्ञान विभाग के विगत एक वर्ष में ​की उपलब्धियों के बारे में बताया कि किस तरह विभाग शैक्षिक एवं रचनात्मक गतिविधियों के साथ-साथ पर्यावरण के संरक्षण के लिए भी अपनी जिम्मेदारी को निभा रहा है। विभाग ने जी0 बी0 पंत संस्थान के साथ मिलकर सेमिनार आयोजित किए हैं। उन्होंने बताया कि कोविड दौर में ऑनलाइन कक्षाएं, कोविड काल में कोविड गाइड लाइन के तहत प्रैक्टिकल आयोजित किये गए, 4 वर्चुअल और 1 ऑफलाइन वेबिनार आयोजित किये गए। उन्होंने कहा कि भविष्य में संसाधन होने पर विभाग के सहयोग से अगले माह क्रिप्टोगेम्स गार्डन विकसित किया जाएगा, विभाग में 100 जिंगो बाईलोबा की कटिंग रोपी गयी हैं। जिनको अगले वर्ष रोपण करने के लिए तैयार किया जा रहा है। विभाग द्वारा नक्षत्र वाटिका विकसित की जा रही है तथा विभिन्न प्रकार के लगभग 100 प्रजातियों के पौध विभाग में विकसित किये जा रहे हैं। उन्होंने विभाग की उपलब्धियों एवं विभाग की प्रत्येक गतिविधियों का विवरण प्रस्तुत किया।
विज्ञान संकाय की संकायाध्यक्ष प्रो0 जया उप्रेती ने कहा कि वनस्पति विज्ञान विभाग के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि हम शैक्षिक गतिविधियों को बेहतर बना सकते हैं। कुलपति प्रो0 नरेंद्र सिंह भंडारी ने कहा कि हम सभी कोविड की भयावह स्थितियों से गुजर रहे हैं लेकिन हमने आशा नहीं छोड़ी है। ऐसी विपरीत समय में समाज के लिए कार्य कर रहे हैं। कोविडकाल में विश्वविद्यालय के प्रत्येक विभाग ने सराहनीय कार्य किया है। कोविड के दौर में वनस्पति विज्ञान विभाग द्वारा संचालित वेबिनार आदि के आयोजन हमारे विद्यार्थियों के लिए लाभदायी सिद्ध हुए हैं। उन्होंने विद्यार्थियों को निर्देशित करते हुए कहा कि सभी विद्यार्थी अपने शिक्षकों का सम्मान कर जीवन को बेहतर दिशा में ले जा सकते हैं। आजादी के अमृत महोत्सव के संबंध में कहा कि हम विश्वविद्यालय में आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं। हम इन 75 सालों में अपने असंख्य शहीदों के बलिदान को याद करें। जिन शहीदों को हम नहीं जान पाए हैं, जो रिकार्ड में नहीं आए हैं, उन्हें हम संहेजने का प्रयास करें। हम ऐसी जानकारियों को एकत्रित करें। शिक्षा नीति को लेकर कहा कि हम देशज शिक्षा को बढ़ावा देना चाहिए। नवीन शिक्षा नीति इसी को ध्यान में रखकर बनाई गई है। हम व्यावसायिक पाठ्यक्रमों का संचालन कर युवाओं को रोजगार से जोड़ सकते हैं। भारत को नए विचार दें। वैचारिक चिंतन कर हम अपना योगदान दें। हमें अपनी कार्यशैली में नयापन लाना होगा। हम नया क्या कर सकते हैं? हमें इस पक्ष पर विशेष ध्यान दिए जाने की जरूरत है। हम शिक्षा के साथ-साथ विद्यार्थियों के भविष्य निर्माण को भी बनाए। उन्होंने वि़द्यार्थियों को निर्देशित करते हुए कहा कि विद्यार्थी हर दिन नया सीखें, नयापन लाएं और बेहतर प्रदर्शन करें।
इस सम्मान समारोह का संचालन शिक्षिका डॉ0 मंजूलता उपाध्याय ने किया।
कार्यक्रम में निबंध प्रतियोगिता में अव्वल आए और बेहतर प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों तनुजा साह,रिया गुप्ता, हितेश पांडे, हिमानी तिवारी,पूजा,हिमानी, दुर्गापाल,मीनाक्षी कनवाल,पूजा जोशी,ममता कनवाल,पूजा मेहता,सुनीता,ज्योति जोशी को अतिथियों ने प्रतीक चिन्ह एवं प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। विभाग की शिक्षिका डॉ मंजुलता उपाध्याय को कुलपति जी ने सम्मानित किया। इस अवसर पर डॉ0 उमंग सैनी, डॉ0 ललित चंद्र जोशी, डॉ0 मनीष त्रिपाठी, प्रमोद भट्ट, तनुजा साह सहित वनस्पति विज्ञान विभाग के विद्यार्थी, शोधार्थी शामिल हुए।

Copyright © शक्ति न्यूज़ | Newsphere by AF themes.