January 29, 2022

शक्ति न्यूज अल्मोड़ा |

1918 से प्रकाशित शक्ति अखबार का डिजीटल प्लेटफार्म

पहाड़ के हित में तुरंत समाप्त किया जाए जिला विकास प्राधिकरण- प्रकाश जोशी

1 min read

रिर्पोट। एस एस कपकोटी।
अल्मोड़ा 29 जनवरी 2021
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा जिला विकास प्राधिकरण को स्थगित किये जाने की घोषणा लेकर सर्वदलीय संघर्ष समिति के संयोजक व नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्र जोशी ने कहा कि यदि सरकार पहाड़ का हित चाहती है तो जिला विकास प्राधिकरण को तुरंत समाप्त करें।
जिला विकास प्राधिकरण को समाप्त करने के लिए पिछले दो साल से आंदोलन कर रहे सर्वदलीय संघर्ष समिति के संयोजक प्रकाश चंद्र जोशी ने शुक्रवार 29 जनवरी को प्रेस वार्ता कर बताया कि सर्वदलीय संघर्ष समिति के तमाम उन सभी पदाधिकारियों और उससे जुड़े लोगो की तीन साल की तपस्या का आज यह फल देखने को मिला है कि सरकार को जिला विकास प्राधिकरण पर सोचने को मजबूर किया। जिस पर मुख्यमंत्री ने जिला विकास प्राधिकरण को स्थगित करने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि यदि सरकार वास्तव में पहाड़ का हित चाहती है तो जिला विकास प्राधिकरण को निरस्त करने का
तुरंत आदेश जारी करें। उन्होंने कहा कि यदि सरकार जिला विकास प्राधिकरण को निरस्त करने के आदेश जारी नहीं करेंगी तो संघर्ष समिति का आंदोलन जारी रहेगा। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि जब तक जिला विकास प्राधिकरण के निरस्त होने का शासनादेश नही आता है तब तक ये आंदोलन यथावत चलता रहेगा। उन्होंने इस आंदोलन से जुडे सभी साथियों का आभार भी व्यक्त किया।

See also  लमगड़ा और सोमेश्वर में ग्राम प्रहरियों के साथ पुलिस ने की गोष्ठी


उपपा केंद्रीय अध्यक्ष पी सी तिवारी ने कहा की कि सरकार अपने कुछ शार्गिदों के साथ मिलकर मनमाने तरीक से जो कानून बनाती है उसको जनता कभी सहन नहीं करेंगी क्योंकि जनता के हित में बनाये गये कानूनों के लिए जन सरोकार से जुड़े लोगों और आम जन की राय लेनी चाहिए तभी ये कानून जनहित मे सफल हो सकते है। उन्होंने सर्वदलीय संर्घष समिति के सभी लोगों के तीन साल की मेहनत को सफल बताते हुवे कहा कि सरकार को यहा समझना चाहिए कि आम जनमानस पर थोपा गया कानून जनता कभी स्वीकार नही करेंगी। उन्होंने सर्वदलीय संघर्ष समिति के संयोजक प्रकाश जोशी की सराहना करते हुवे कहा कि आंदोलन करना एक अलग बात है और उस आंदोलन को अच्छे बुरे दौर पर बनाये रखना एक अलग बात होती है जिसके लिए प्रकाश जोशी इस आंदोलन के मुख्य सूत्रधार के रूप में खडे रहकर आज इसका सुखद परिणाम मिला है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि इन तीन सालों में जिला विकास प्राधिकरण के लागू होने से जिन लोगों से लाखों रूपया लिया गया है सरकार उनको वापस कराने की जिम्मेदारी भी ले।
कांग्रेस नगर अध्यक्ष पूरन रौतेला ने कहा कि सरकार को यह समझना चाहिए कि पहाड़ की स्थिति और मैदान की स्थिति में काफी भौगोलिक अंतर है। किसी भी कानून को लागू करने से पहले सरकार को पहाड़ की स्थिति के बारे में गंभीर रूप से विचार करना चाहिए। रौतेला ने कहा कि जिला विकास प्राधिकरण के लागू होने से लोग आर्थिक और सामाजिक रूप से भी परेशानी झेल रहे है और आस पड़ोस में ही लोगों में दुश्मनी पनप रही है क्योंकि जिला प्राधिकरण के तहत जिस प्रकार से नोम्स रखे गये है उस आधार पर पहाड़ में गरीब आदमी को कभी छत नसीब नही हो सकती है। जहां पालिका में दस से 15 हजार में भवन का नक्शा तैयार होता है वहीं प्राधिकरण में इसके लिए लाखों रूपये की लूट हो रही है। उसके बाद भी आम आदमी काम के लिए दर दर भटक रहा है।
नगर पालिका अध्यक्ष व सर्वदलीय संघर्ष समिति के संयोजक प्रकाश चंद्र जोशी ने कहा कि सरकार को चाहिए कि प्रदेश के सभी महानगर पालिका और नगर पालिका को स्वालंबी बनाने के लिए उन्हें अपने क्षेत्रों के सभी भवनों के मानचित्र स्वीकृत करने का पूर्ण अधिकार दिया जाय। जिससे जनता की सुविधा के साथ साथ नगर पालिका की आय में भी वृद्वि होगी और नगर पालिकाएं सुदृढ़ बनेंगी। उन्होंने इस प्राधिकरण को समाप्त करने में अपना सहयोग देने के लिए विधानसभा उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह चैहान सहित सभी जनप्रतिनिधियों का धन्यवाद किया। लेकिन उन्होंने यह भी कहा कि नगर को सुंदर और अतिक्रमण मुक्त बनाने में सबकी जिम्मेदारी है इसलिए हम सब की जिम्मेदारी है कि हम नगर में भवनों का निर्माण नियमानुसार करें और नगर को साफ सुंदर बनाने में अपना पूर्ण सहयोग और योगदान दें।

See also  जनपद अल्मोड़ा में 5 कोविड—19 सेंटरों की स्थापना
Copyright © शक्ति न्यूज़ | Newsphere by AF themes.
error: Content is protected !!