October 11, 2021

शक्ति न्यूज अल्मोड़ा |

1918 से प्रकाशित शक्ति अखबार का डिजीटल प्लेटफार्म

तीसरी पुण्यतिथि पर याद किये डा शमशेर सिह बिष्ट

1 min read
546778f3-c32c-455b-a331-27f23100882a
27673308-6ab7-4439-9875-5ca44b4946e1
previous arrow
next arrow

अल्मोडा। उत्तरखण्ड लोकवाहिनी के पूर्व अध्यक्ष डा शमशेर सिंह बिष्ट की तीसरी पुण्यतिथि स्थानीय राजनैतिक दलों के बीच एकता पर सहमति बनी व शीघ्र ही पुन: बैठक आयोजित करने पर बल दिया तथा आगामी 27 सितम्बर के किसान संगठनो के भारत बन्द को समर्थन देने का प्रस्ताव पारित किया। आज उत्तराखण्ड के भू कानून एवं क्षेत्रीय दलों की एकता की दररार बिषय पर अपनी बात रखते हुवे कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उकांद के अध्यक्ष काशी सिंह ऐरी ने कहा कि दल उत्तराखण्ड के सवालों पर संघर्ष कर रहा है उन्होंने कहा कि जिस प्रकार बंगाल में केन्द्र की सत्ताधारी पार्टी क्षेत्रीय पार्टी के आगे धराशाई हो गई ऐसी ही जनचेतना का उभार उत्तराखण्ड मे भी जरूरी है। उन्होंने कहा कि इन बीस सालो मे उत्तराखण्ड में केवल ठगी हो रही है पर्वतीय राज्यो मे केवल उत्तराखण्ड मे ही जमीनो की लूट चल रही है उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड मे क्षेत्रीय राजनैतिक पार्टियां निर्णायक भूमिका मे नहीं आई। राज्य के सभी निर्णय सत्ता पर ही निर्भर होते है। उन्होंने कहा कि भूमि प्रवन्धन राज्य का मामला है इसके लिये केन्द्र पर निर्भरता नहीं है। उन्होने कहा कि उकांद क्षेत्रीय राजनैतिक दलों की एकता लिये उलोवा की पहल का स्वागत करता है उन्होने उलोवा अध्यक्ष राजीव साह से कहा कि वे पुन: बैठक आयोजित करे जिस पर वाहनी ने सहमति व्यक्त की। इससे पूर्व उलोवा नेता एड जगत रौतेला ने आज की संगोष्ठी के औचित्य पर प्रकाश डालते हुवे कहा कि क्षेत्रीय स्तर पर बिना राजनैतिक एकता के पहाड के जनमुद्दो की उपेक्षा होती रहेगी इसके लिये संगठित प्रयास जरूरी है।
गोष्ठी का संचालन पूरन चन्द्र तिवारी व दयाकृष्ण काण्डपाल ने संयुक्त रूप से किया। पूर्व विधायक नारायण सिह जन्तवाल ने कहा कि राज्य बने 21 साल हो गये पर अभी तक परिसम्पत्तियों पर उत्तराखण्ड को हक हकूक नहीं मिले। ईश्वर दत्त जोशी ने जनविरोधी भूमि कानूनों के क्रमिक विकास व उनके खिलाफ होने वाले जन संघर्षो पर प्रकाश डाला तथा ससक्त भू कानून की आवश्यकता पर प्रकाश डाला।
उपपा अध्यक्ष पी सी तिवारी ने कहा कि त्रिवेन्द्र सरकार के भू कानूनो ने उत्तराखण्ड में जमीन की लूट खसोट को बढा दिया है उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड में संघर्ष व समाधान के मुद्दो पर क्षेत्रीय दलो की एकता सम्भव है।
इस अवसर पर डा0 हयात रावत ने कुमाउनी लोक संस्कृति व कुमाऊनी भाषा पर क्षेत्रीय दलो से कार्य करने की अपील की। सभा में चन्द्र शेखर कापडी ने भी विचार व्यक्त किये। इस अवसर पर युवा संवाद की ओर से कुनाल तिवारी, भाष्कर भौर्याल, उदय किरौला, राम सिंह, बसन्त खनी, पूरन चन्द्र तिवारी, जगत रौतेला ने सामूहिक रूप से जनगीत गाकर डा शमशेर सिंह बिष्ट को अपनी श्रद्धान्जली दी। अजय मित्र व पूरन चन्द्र तिवारी ने सबका आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में जंगबहादुर थापा, शमशेर जंग गुरुंग, रेवती बिष्ट, कुणाल तिवारी व यू केडी के भानु जोशी, शिवराज बनौला, गिरीश लाल साह, आप के अमित जोशी, नन्दलाल साह अखिलेश टम्टा सहित बडी संख्या मे लोग उपस्थित थे।

Copyright © शक्ति न्यूज़ | Newsphere by AF themes.