November 15, 2021

शक्ति न्यूज अल्मोड़ा |

1918 से प्रकाशित शक्ति अखबार का डिजीटल प्लेटफार्म

जानिये ”अल्मोड़ा की ऐतिहासिक जेल “

1 min read
advert aps
advert
advert rajesh boot house
advert prakash2
previous arrow
next arrow

अल्मोड़ा (उत्तराखंड ) की ऐतिहासिक जेल में अनेक स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ब्रिटिश कैदी के रूप में रहे उनमें से कुछ महान हस्तियाँ भी रही। खान अब्दुल गफ्फार खाँ ‘ सीमांत गाँधी ‘ जी ने भी इस जेल में कैदी के रूप में रहकर इस जेल की शोभा बढ़ाई। बलूचिस्तान के इस महान नेता की इच्छा को वास्तविक सम्मान नहीं मिल पाया। काश! सीमांत गाँधी जी की भावना को सम्मान मिल पाता।
अल्मोड़ा की ऐतिहासिक जेल में ब्रिटिश कैदियों के रूप में रहने वाले महान विभूतियों की सूची अल्मोड़ा जेल के प्रवेश मार्ग पर लगाई गई है।
वर्तमान में इस जेल के चारों ओर घनी आबादी बस गई है और जेल परिसर भी छोटा है। जेल परिसर छोटा होने से जेल के अंदर के कैदियों से विभिन्न प्रकार के रचनात्मक कार्य कराकर कैदियों के समय का सदुपयोग नहीं लिया जा सकता। जिस प्रकार अन्य कारागारों में कैदियों से कार्यकराकर उनकी आमदनी की ओर भी ध्यान दिया जाता है। जिससे कैदी कारावास की अवधि के बाद घर जाते समय जमा धनराशि का सदुपयोग कर अपने आगे का जीवन सही ढ़ंग से व्यतीत कर सके। इस प्रकार के कार्य इस जेल में नहीं हो पाते है वैसे भी यह जेल अनेकानेक स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के रहने से ऐतिहासिक दर्जा प्राप्त करती है।
अत: इस जेल को ऐतिहासिक दर्जा देते हुए शहर से कई दूर नई जेल का निर्माण ​कराया जाना चाहिए।
प्रकाश चन्द्र पन्त
सम्पादक — ‘अल्मोड़ा टाइम्स’
अल्मोड़ा

Copyright © शक्ति न्यूज़ | Newsphere by AF themes.