January 23, 2022

शक्ति न्यूज अल्मोड़ा |

1918 से प्रकाशित शक्ति अखबार का डिजीटल प्लेटफार्म

इस बार भी नही होगा सेराघाट बीड़ा मंदिर दो दीवसीय उतरायणी मेला

1 min read

अल्मोड़ा— यहां सालों से होता आ रहा बागेश्वर पिथौरागढ़ के सीमांत एरिया सेराघाट बीड़ा मंदिर में उत्तरायणी मेला कोरोना के चलते इस साल भी नही होगा। जानकारों का कहना है कि यह मेला 150 सालो से होता आ रहा है।
जिले के सीमान्त क्षेत्र के प्रशिद्ध बीड़ा मंदिर में लगने वाला यह मेला उत्तराखंड राज्य बनने के बाद दो दिवसीय बना दिया गया। इस मेले में आस पास के सभी जिलों के अलावा दुर दराज से
व्यापारी आते है। लेकिन कोरोना महामारी से पिछले साल भी सेराघाट में उतरायणी मेला नहीं लग पाया। इस साल कुछ उम्मीद थी तो कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की बढ़त होंने से मेलें में सांस्कृतिक कार्यक्रम व अन्य व्यापारियों के लिए रोक लगा दी।
समाजिक कार्यकर्ता प्रताप सिंह नेगी का कहना है सेराघाट बीड़ा मंदिर में दो दिवसीय मेले में धारचूला, पिथौरागढ़, हल्द्वानी, बरेली, मुर्दाबाद,के व्यापारी आते थे। साथ में अल्मोड़ा जिले व बागेश्वर जिले व पिथौरागढ़ जिले के गांवों के किसान इस मेले गन्ना, संतरा, नींबू,साग सब्जी, व अन्य प्रकार पहाड़ी चीजों को बिक्री के लिए कास्तकारो के द्बारा लाया जाता है। कोरोना काल की महामारी ने फिर मेला न लग पाने से लोगों में मायूूशी दिख रही है।
इस भी कोरोना गाइड लाइन के अनुसार श्रद्धालु मंदिर में पूजा अर्चना व सरयू नदी में स्नान करने के बाद पूजा अर्चना कर पायेंगे। बाकी सांस्कृतिक कार्यक्रम व अन्य किसी भी प्रकार की गतिविधि नही हो पायेगी।

Copyright © शक्ति न्यूज़ | Newsphere by AF themes.