Thu. May 6th, 2021

शक्ति न्यूज अल्मोड़ा |

1918 से प्रकाशित शक्ति अखबार का डिजीटल प्लेटफार्म

एरीज के ग्रहण के सीधे प्रसारण में मौसम ने डाली रुकावट, लद्दाख वेधशाला से संपर्क कर निभाया वादा

1 min read
Slider

नैनीताल। रविवार को लगे सूर्यग्रहण यानि खगोलीय घटना के देश दुनिया मे करोड़ों लोग गवाह बने। उत्तराखंड में बादलों की लुका छिपी के बीच लोगों ने सूर्यग्रहण देखा। नैनीताल में अलबत्ता मौसम इसमें बाधक बना रहा। आर्यभट्ट प्रेषण एवं शोध संस्थान यानि एरीज ने इसके बावजूद अपना वादा निभाया। एरीज ने अपने सहयोगी संस्थान लेह लद्दाख हेनले स्थित भारतीय खगोल वेधशाला के सोर टेलिस्कोप की मदद से इस ऐतिहासिक सूर्यग्रहण को लाइव दिखाया । इसमें बड़ी तादात में दर्शक जुड़े।
उल्लेखनीय है कि संस्थान के निदेशक प्रो. दीपांकर बनर्जी की पहल पर इस खगोलीय घटना को खास बनाने के लिए लाइव दिखाने की व्यवस्था कर रखी थी। संस्थान के वरिष्ठ खगोल वैज्ञानिक डॉ. शशि भूषण पांडेय ने बताया कि आयोजन बेहद सफल रहा।
ज़ूम एप्प के माध्यम से जहां देश भर के वैज्ञानिकों सूर्यग्रहण में चर्चा के लिए आमंत्रित किया गया था। निदेशक प्रो. बनर्जी की अध्यक्षता में आयोजित वेबीनार में दर्जनों वैज्ञानिकों ने चर्चा की। लोगों ने फेसबुक ओर यूट्यूब के माध्यम से सूर्यग्रहण की घटना को लाइव देखा। इस दौरान डॉ. कुंतल मिश्रा ई. टीएस कुमार, रविंद्र कुमार यादव समेत शोध छात्र रितेश पटेल , रुति झा आदि लोग मौजूद रहे।

Copyright © शक्ति न्यूज़ | Newsphere by AF themes.