November 22, 2021

शक्ति न्यूज अल्मोड़ा |

1918 से प्रकाशित शक्ति अखबार का डिजीटल प्लेटफार्म

आठवें दिन सोमवार को भी जारी रहा पूर्व सैनिक कर्मचारियों का कार्य बहिष्कार

1 min read
advert aps
advert
advert rajesh boot house
advert prakash2
previous arrow
next arrow

उत्तराखंड पूर्व सैनिक कल्याण के कर्मचारियों का कार्य बहिष्कार सोमवार को आठवें दिन भी जारी रहां. संगठन के पदाधिकारियों का कहना है कि 21 नवंबर को उनकी मुलाकात मुख्यमंत्री ये हुई. जिसमें संगठन की मांगों पर विस्तृत चर्चा की गई व 23 नवंबर की कैबिनेट बैठक में प्रकरण की पारित करवाने का निश्चित आश्वासन दिया गया।
संगठन के कार्य बहिष्कार को प्रदेश के पूर्व सैनिकों एवं वीरांगनाओं द्वारा उनकी जायज मांगों सातवां वेतनमान वर्ष 2016 से एवं विभागीय संविदा नियुक्ति की तिथि से केंद्रीय सैनिक बोर्ड रक्षा मंत्रालय भारत सरकार की गाइडलाइंस के अनुसार पर खुले मन से पूर्व सैनिक संगठन ने समर्थन देने की घोषणा की है।विदित है कि इन पूर्व सैनिक कर्मचारियों को 75% वेतन एवं भत्ते भारत सरकार रक्षा मंत्रालय केंद्रीय सैनिक बोर्ड दिल्ली द्वारा दिए जाते हैं मात्र 25% ही राज्य सरकार द्वारा दिया जाता है ,फिर भी कर्मचारियों की जायज मांग को ना माना जाना अति दुखद एवं दुर्भाग्य की बात है।
कार्यक्रम में सैनिक लीग के पूर्व जिला सैनिक कल्याण अधिकारी मेजर एम एस नेगी समर्थन में पहुंचे व कहा कि सैन्य बाहुल्य प्रदेश पर्वतीय प्रदेश में हमारे पूर्व सैनिक सैनिक कल्याण संविदा कर्मचारी जायज मांगों को लेकर सैनिक कल्याण निदेशालय में धरने पर बैठे है अति दुर्भाग्य की बात है सैनिक कल्याण निदेशालय कालिदास मार्ग मे पहुंचे आंदोलनकारी पूर्व सैनिक कर्मचारियों ने पूर्व सैनिक रहे माननीय सैनिक कल्याण मंत्री श्री गणेश जोशी जी व पूर्व सैनिक के यशस्वी पुत्र माननीय मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी से सैनिकों के सम्मान में यह प्रकरण अपने स्तर से कैबिनेट में लाने हेतु संबंधित सचिवों को आदेशित व निर्देशित करने का निवेदन किया है।
संगठन के पदाधिकारियों द्वारा यह विशेष मांग रखी है कि 23 तारीख की आगामी बैठक में सैनिक कल्याण कर्मचारियों का प्रकरण कैबिनेट में आ जाए तो वह माननीय मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी जी एवं माननीय सैनिक कल्याण मंत्री श्री गणेश जोशी जी का धन्यवाद प्रस्ताव पारित कर अपना कार्य बहिष्कार तत्काल समाप्त कर वापस अपने-अपने जिलों में वापस चले जाएंगे। बिना शाशनादेश प्राप्त किये किसी भी हालत में कार्य बहिष्कार खत्म नही किया जाएगा,कर्मचारियों की मांग है कि सैनिक कल्याण कर्मचारियों को सातवां वेतनमान वर्ष 2016 से दिया जाए,संविदा कर्मचारियों को नियुक्ति की तिथि से विभागीय की संविदा एवं नियमितीकरण किया जाए कार्यक्रम में अध्यक्ष गजपाल नेगीजी ,सचिव करन सिंह , कुमाऊँ संयोजक सुरेंद्र रौतेला, गढ़वाल मंडल संयोजक जयकृत सिंह कठैत, केशर सिंह कैंतुरा, हरीश ध्यानी, भरत सिंह खत्री,
शंकर सिंह बिष्ट . कमला तिवारी .रमेश तिवारी.बलवीर सिंह पवार. नीमा देवी, सरिता बिष्ट. दीप बिष्ट ,किशन सिंह,, ललित चुफाल , आर एस खत्री, गिरीश भट्ट लक्ष्मी दत्त चौसाली श्री गोपाल सिंह बोरा एवं सैनिक विभाग के पदाधिकारी भी उपस्थित थे ।

Copyright © शक्ति न्यूज़ | Newsphere by AF themes.